NationalTop News

फांसी से पहले लिया गया निर्भया के दोषियों के गले का नाप, फूट-फूटकर रोए चारों

नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों की फांसी का दिन नज़दीक आ चुका है। सभी चारों दोषियों को 22 जनवरी को फांसी दी जानी है। इस बीच निर्भया गैंगरेप के चार गुनहगारों में से विनय कुमार शर्मा और मुकेश सिंह ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की थी, जिस पर कोर्ट ने सुनवाई करने का फैसला लिया। जस्टिस एनवी रमना, अरुण मिश्रा, आरएफ नरीमन, आर। भानुमति और अशोक भूषण की बेंच 14 जनवरी को इस मामले पर सुनवाई करेगी। हालांकि ऐसा माना जा रहा है कि कोर्ट से इनकी क्यूरेटिव पिटीशन खारिज हो जाएगी और तय दिन पर ही इन्हे फांसी पर लटकाया जाएगा।

इसी को देखते हुए तिहाड़ जेल प्रशासन तेजी से फांसी की तैयारी में जुट गया है। जेल में डमी से फांसी का अभ्यास करने से पहले शनिवार को चारों दोषियों के गले का नाप लिया गया। साइज के हिसाब से जेल प्रशासन फांसी का फंदा तैयार करेगा। इस दौरान चारों दोषियों की लंबाई मापी गई और वजन भी लिया गया। पूरी प्रक्रिया के दौरान चारों गुनहगार फूट-फूट कर रोते रहे। बताया जा रहा है कि जैसे ही कर्मचारी चारों दोषियों मुकेश, विनय कुमार शर्मा, पवन कुमार गुप्ता और अक्षय ठाकुर के गले- लंबाई का नाप लेने के साथ उनका वजन करने लगे तो सभी के चेहरों पर मौत की आहट साफ नजर आने लगी। इसी के साथ वे रुंधे गले से रोने लगे फिर फूटफूट कर रोए। इस दौरान वहां पर मौजूद जेल कर्मियों ने उन्हें शांत कराया।

गौरतलब है कि तिहाड़ जेल प्रशासन ने जेल संख्या-3 में चारों दोषियों की फांसी के लिए तख्ता भी तैयार कर लिया है। इसके साथ ही फांसी की प्रक्रिया के तहत डमी ट्रायल किया जाना है। इसी कड़ी में शनिवार को चारों का नाप लिया गया। बता दें कि फांसी से कुछ दिन पहले जहां दोषियों के वजन के साथ उनके खानपान पर नजर रखना शुरू कर दिया जाता है, तो फांसी की तय तारीख के साथ प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। तिहाड़ जेल में पहली बार चार दोषियों को एक साथ फांसी दी जानी है, ऐसे में खास इंतजाम किए जा रहे हैं।