HealthInternationalLifestyleNationalTop News

सावधान : भारत पहुंचा जानलेवा कोरोना वायरस, इन बातों पर दें ध्यान

फोटो-गूगल

चीन में लगातार कोरोना के मरीज बढ़ते जा रहें हैं। जिसके बाद अब यह बीमारी दूसरे देशों में भी फ़ैल रही है। अन्य 26 देशों में भी इस वायरस के मरीज पाए गए हैं। अब भारत में भी इस बीमारी को लेकर अलर्ट घोषित कर दिया गया है। कई एयरपोर्ट्स पर भी इस वायरस को लेकर नोटिस लगाए गए हैं और चीन की यात्रा करने से भी लोगों को मना किया जा रहा है।

यात्रियों का थर्मल स्क्रीनिंग कराने का फैसला

बीजिंग, शंघाई जैसे चीन के कई बड़े शहरों के बाद कोरोना वायरस ने एशिया के थाईलैंड, जापान और साउथ कोरिया को भी अपनी चपेट में ले लिया है। इसी को देखते हुए भारत सरकार ने चीन से आने वाले सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग कराने का फैसला किया है। ये स्क्रीनिंग देश के सभी बड़े एयरपोर्ट्स जैसे दिल्ली, मुंबई और कोलकाता पर की जाएगी।

हेल्थ एमरजेंसी घोषित नहीं की गयी अभी तक  

भारत में हेल्थ डिपार्टमेंट लोगों को इस वायरस के प्रति सचेत कर रहा है। विश्व स्वास्थ संगठन (WHO) ने अब तक इसे हेल्थ एमरजेंसी के तौर पर घोषित नहीं किया है। उनके हिसाब से अभी अंतरराष्ट्रीय लेवल पर हेल्थ एमरजेंसी घोषित कर देना जल्दबाजी होगी।

खरतनाक साबित हो सकता है यह वायरस

डब्लूएचओ (WHO) के हिसाब से यह एक कोरोना वायरस है, जिसमें लोगों को 6 तरीकों को वायरस से इंफेक्शन का खतरा होता है। लेकिन इस वायरस के आने के से इसकी संख्या बढ़ गई है और अब कुल 7 तरीके के वायरस हो गए हैं, जिनसे लोगों को जानलेवा खतरा है।

ये लक्षण दिखने पर लें डॉक्टर की सलाह

वैज्ञानिकों का कहना है कि यह एक इंसान से दूसरे इंसान में संक्रमित हो सकता है। चीन में हजारों लोगों को शिकार बनाने के बाद यह वायरस दूसरे देशों को भी अपने चपेट में ले रहा है। खास तौर पर खांसी- जुखाम, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत होने पर और बुखार आने पर लोगों को डॉक्टर को दिखाने की सलाह दी जा रही है।

इस तरह आप कर सकतें हैं बचाव

वैज्ञानिकों का कहना है कि अभी तक इस वायरस से सुरक्षा के लिए किसी भी प्रकार का टीका तैयार नहीं किया है। इसके साथ ही ये बीमारी सांस के माध्यम से भी फैल सकती है, ऐसे में साफ-सफाई का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। इसके साथ इस वायरस से पीड़ित लोगों से मिलना-जुलना कुछ दिनों के लिए बंद कर दें। वैज्ञानिकों ने बार-बार हाथ धोते रहने की भी सलाह दी है। खांसी-जुखाम, गले में दर्द, सांस लेने में अगर दिक्कत महसूस हो रही हो तो और बुखार आने पर डॉक्टर से उचित परामर्श जरूर लेलें।