NationalTop News

दिल्ली में एक बार फिर केजरीवाल सरकार, कांग्रेस का नहीं खुल सका खाता

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) को प्रचंड बहुमत मिला है। मंगलवार को हुई मतगणना में आप के खाते में 62 सीटें आईं वहीं बीजेपी ने पिछली बार से थोड़ा अच्छा प्रदर्शन करते हुए 8 सीटें हासिल की। इस चुनाव में सबसे बुरा हाल देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस का रहा।

कांग्रेस साल 2015 की तरह इस बार भी अपना खाता नहीं खोल सकी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जीत के बाद समर्थकों को शुक्रिया कहा। उन्होंने कहा कि यह देश और दिल्लीवासियों की जीत है। केजरीवाल ने कहा कि अब उसी पार्टी को जीत मिलेगी जो जनता के लिए काम करेगा। जो 24 घंटे अच्छी बिजली देगा, स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करेगा।

अरविंद केजरीवाल ने हनुमान जी को भी शुक्रिया कहा। वहीं दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी चुनाव परिणाम के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी बात रखी। मनोज तिवारी ने कहा, मैं मतदाता को धन्यवाद देता हूं। सभी कार्यकर्ताओं ने बहुत मेहनत की थी, उनको साधुवाद। उन्होंने अरविंद केजरीवाल को बधाई दी और कहा कि वो दिल्ली की अपेक्षाओं को पूरा करेंगे।

हमारी अपेक्षा खरी नहीं उतरी, इसकी हम समीक्षा करेंगे। हालांकि बीजेपी का 2015 के मुकाबला वोट प्रतिशत बढ़ा है। पार्टी को 40 प्रतिशत वोट मिले हैं। उन्होंने कहा कि मेरा अनुमान गलत साबित हुआ है, लेकिन 48 सीटों पर सड़कें बुरी हैं, स्कूल अच्छे नहीं है। दिल्ली में नया ट्रेंड है, अब सिर्फ दो दलों के बीच लड़ाई है। कांग्रेस लुप्त हो गई है।

उन्होंने कहा कि हम लोग नफरत की राजनीति नहीं करते हैं। सबका साथ-सबका विश्वास हमारा सिद्धांत है। भविष्य में नहीं चाहेंगे कि 60 दिन तक रास्ता रोका जाए। वहीं, इस्तीफे के सवाल पर मनोज तिवारी ने कहा कि आगे देखेंगे