InternationalTop News

जिस बात के लिए चीन ने अमेरिका को हड़काया, उसी के लिए झुककर भारत से की रिक्वेस्ट

बीजिंग। चीन से शुरू हुआ कोरोना वायरस अमेरिका पहुंचा तो उसने चिढ़कर इसे चाइनीज़ वायरस कहना शुरू कर दिया जिसके बाद चीन ने उसे लताड़ भी लगाई थी। हालांकि जब भारत ने ऐसा किया तो चीन ने उससे अनुरोध करते हुए कोरोना वायरस को चायनीज़ वायरस न बोलने की अपील की।

चीन के विदेश मंत्री वांग वाई ने भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात की है और अनुरोध किया कि वायरस के लिए ‘चाइनीज वायरस’ शब्‍द का प्रयोग स्‍वीकार्य नहीं है। चीन के मुताबिक वह दुनिया की मदद करने और अतंरराष्‍ट्रीय सहयोग के लिए तैयार है। भारत में चीन के राजदूत सन वेइडोंग ने ट्वीट किया और इस बात की जानकारी दी।

वेइडोंग ने ट्विटर लिखा, ‘वांग वाई ने कहा है कि यह बिल्‍कुल भी स्‍वीकार्य नहीं होगा और वायरस पर चीन का ठप्‍पा लगाने और चीन पर कलंक लगाना अंतरराष्‍ट्रीय सहयोग के लिए अहितकर होगा।

उम्‍मीद है भारत इस तरह की संकीर्ण मानसिकता का विरोध करेगा।’अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने सबसे पहले एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कोरोना को चाइनीज वायरस कहकर संबोधित किया था। चीन ने इस बात का विरोध दर्ज कराया है कि इसे ‘वुहान वायरस’ या फिर ‘चाइनीज वायरस’ कहकर संबोधित किया जा रहा है। पिछले दिनों चीन के राजनयिक, अमेरिकी अधिकारी से ट्विटर पर इसी बात को लेकर भिड़ गए थे।