Sports

एनओसी के लिए घरेलू टी-20 लीग खेलना जरूरी : पीसीबी

लाहौर, 30 सितंबर (आईएएनएस)| पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने दूसरे देशों में होने वाली टी-20 लीगों में हिस्सा लेने के लिए एनओसी पाने के लिए खिलाड़ियों को घरेलू टी-20 लीग में हिस्सा लेने की शर्त लागू कर दी है। क्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, पीसीबी ने साफ तौर पर कहा कि बांग्लादेश प्रीमियर लीग (बीपीएल) और दक्षिण अफ्रीका में होने वाली ग्लोबल टी-20 लीग में हिस्सा लेने के लिए पाकिस्तानी खिलाड़ियों को सात से 17 नबंवर के बीच घर में होने वाले नेशनल टी-20 कप में खेलना अनिवार्य है। पीसीबी ने यह शर्त अपने केंद्रीय अनुबंध में आने वाले खिलाड़ियों पर लागू की है।

अन्य लीगों के लिए खिलाड़ी उपलब्ध होंगे या नहीं, इस पर अनिश्चितता का माहौल है। हालांकि केंद्रीय अनुबंध में शामिल कई खिलाड़ियों को लीग छोड़कर दोबारा पाकिस्तान लौटना पड़ सकता है, क्योंकि पाकिस्तान नबंवर के आखिर में वेस्टइंडीज के साथ टी-20 सीरीज खेलेगा, हालांकि इस सीरीज को अभी मंजूरी का इंतजार है।

बीपीएल दो नवंबर से 10 दिसंबर के बीच आयोजित की जाएगी। वहीं ग्लोबल टी-20 लीग की शुरुआत तीन नबंवर से हो रही जिसका फाइनल 16 दिसंबर को खेला जाएगा।

पीसीबी ने एक बयान में कहा है, पीसीबी ने फैसला लिया है कि उसके केंद्रीय अनुबंध में शामिल खिलाड़ियों के लिए बोर्ड के टी-20 टूर्नामेंट में हिस्सा लेना अनिवार्य है। यह फैसला घरेलू क्रिकेट को मजबूत करने के लिए लिया गया, ताकि देश से अच्छे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी निकलें। बांग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका से हमारे अच्छे रिश्ते हैं और इस बात को ध्यान में रखते हुए हमने फैसला लिया है कि हम बीपीएल और ग्लोबल टी-20 लीग में खेलने के लिए उन्हीं खिलाड़ियों को अनापत्ती प्रमाण पत्र (एनओसी) देंगे जो सात से 17 नबंवर के बीच होने वाले घरेलू टी-20 टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे।

पाकिस्तान के आठ खिलाड़ियों ने ग्लोबल टी-20 लीग के फ्रेंचाइजियों के साथ करार कर लिया है। इन आठ खिलाड़ियों में पीसीबी के केंद्रीय अनुबंध में शामिल खिलाड़ी भी हैं। वहाब रियाज, मोहम्मद नवाज, फखर जमन और यासिर शाह ने ग्लोबल टी-20 लीग की फ्रेंचाइजियों के साथ करार कर लिया है। बीपीएल में भी कई पाकिस्तानी खिलाड़ी हिस्सा लेंगे।