National

‘हाल के वर्षो में पूर्वोत्तर में सुरक्षा स्थिति सबसे बेहतर’

कोलकाता, 25 नवंबर (आईएएनएस)| पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय के सचिव नवीन वर्मा का कहना है कि हाल के वर्षों में पूर्वोत्तर भारत में सुरक्षा स्थिति सबसे बेहतर रही है। उन्होंने इस बात पर अफसोस जताया कि सभी पूर्वोत्तर राज्यों को एक साथ रखकर देखा जाता है और कहीं भी उग्रवाद संबंधी समस्या होती है तो उसके लिए पूरे पूर्वोत्तर को लपेट दिया जाता है।

वर्मा ने यहां इंडिया टुडे कॉनक्लेव ईस्ट में कहा, सुरक्षा स्थिति के मामले में..हाल के वर्षो में यह सबसे बेहतर है.. हिंसक घटनाएं सबसे कम हैं। यह राज्य सरकारों, केंद्र सरकार और सुरक्षा बलों के संयुक्त प्रयास का नतीजा है। लोग खुद भी ऐसा चाहते हैं।

उन्होंने पूर्वोत्तर राज्यों के विकास की ओर भी ध्यान दिलाया।

उन्होंने कहा, चार राज्य बहुत अच्छा कर रहे हैं। उनकी प्रति व्यक्ति सकल घरेलू आय राष्ट्रीय औसत आय दर से ज्यादा है। चार अन्य राज्य भी आगे बढ़ रहे हैं। सभी आठों राज्यों में राष्ट्रीय औसत के मुकाबले विकास दर ज्यादा है।

उन्होंने सवालिया लहजे में कहा, आप पूर्वोत्तर को एक साथ देखने के आदी ओ गए हैं। जब आप उग्रवाद कहते हैं..लोग कहते हैं यह बहुत अशांत है। सिक्किम अशांत राज्य नहीं रहा है। मिजोरम में अंतिम बार 1986 में अशांति हुई थी। उन सभी पर ऐसे आरोप क्यों लगाने चाहिए।

उन्होंने कहा कि शुक्र है कि अब सभी राज्यों में हालात ठीक हैं, लेकिन सवाल फिर नजरिए को लेकर है। सभी राज्यों की अपनी क्षमता और चुनौतियां हैं और इस पर काम किया जा रहा है।

क्षेत्र में सकारात्मक दृष्टिकोण को रेखांकित करते हुए वर्मा ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में स्थानीय उद्यम धीरे-धीरे उभर रहे हैं।